बड़ी खबर: CM ने शुरू की 456.6 करोड़ की Yojana, हेमंत के लिए बड़ी सौगात!

 WhatsApp GroupJoin Now

रांची में, पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के स्थान पर झारखंड की कमान संभाल रहे मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने शनिवार को पलामू में एक महत्वपूर्ण यात्रा की। यहां, उन्होंने पलामू जिले को प्रतिवर्ष सुखाड़ की मार से बचाने के लिए पलामू पाइपलाइन सिंचाई Yojana का उपहार दिया। इस 456.6 करोड़ रुपए के सिंचाई Yojana का उद्घाटन करने के बाद, चंपाई सोरेन ने झारखंड को एक आदर्श राज्य बनाने के लिए अपनी पूरी प्रतिबद्धता दिखाई। उन्होंने शहर और गांव के बीच की दूरी को कम करने का भी ऐलान किया।

पाइप लाइन सिंचाई Yojana:


साल 2027 तक, झारखंड में हर घर में अपना स्थायी मकान होगा। मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की उपलब्धियों और उनकी दूरदर्शिता की सराहना की। उन्होंने घोषणा की कि पलामू पाइपलाइन सिंचाई Yojana को डेढ़-दो साल में पूरा किया जाएगा, जिससे पलामू के खेतों को 12 महीने तक पानी मिलेगा। इससे पलामू में सुखाड़ की समस्या खत्म हो जाएगी। हमारी सरकार यहां हर खेत तक पाइपलाइन से पानी पहुंचाएगी, जिससे पलामू हमेशा हरा-भरा रहेगा। पलामू के किसानों को अब कभी भी सुखाड़ की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।


मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने हेमंत सोरेन की याद में उनके युवा सम्राट और पूर्व मुख्यमंत्री को सलाम अर्पित करते हुए कहा कि हेमंत सोरेन ने एक सपना देखा था, जिसमें गांव और शहर के बीच की दूरी मिटाने का संकल्प था। यह सरकार उनके सपने को पूरा करेगी। चंपाई सोरेन ने कहा कि झारखंड में अब किसी को पैदल नहीं चलना पड़ेगा। इसके लिए, हेमंत सोरेन ने ‘मुख्यमंत्री ग्राम गाड़ी Yojana‘ की शुरुआत की थी।

यह भी पढे: खुशखबरी: 23 लाख किसानों को हर साल मिलेगा 36 हजार रुपये! Kisan Mandhan Yojana जानिए पूरी खबर!

मुख्यमंत्री ग्राम गाड़ी Yojana:

मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि हमारी सरकार इस योजना को शुरू करेगी। ‘मुख्यमंत्री ग्राम गाड़ी योजना’ की शुरुआत के बाद, गांव के लोग मुफ्त में बस से शहर जा सकेंगे। इस बस सेवा का लाभ पेंशनभोगी बुजुर्गों से लेकर स्कूल-कॉलेज जाने वाले बच्चों तक पहुंचेगा, जिन्हें बस का किराया नहीं देना पड़ेगा। नि:शक्त और गरीब परिवारों के लोग भी इस सुविधा का मुफ्त में लाभ उठा सकेंगे।

झारखंड के मुख्यमंत्री ने उत्कृष्टता की ऊँचाइयों को छूने का दृढ़ संकल्प दिखाया है, जब उन्होंने झारखंड के विकास की मुहिम में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया। वर्ष 2027 तक, झारखंड में हर नागरिक के पास अपना अटूट और स्थायी मकान होगा। इस प्रयास में, वह न केवल सरकारी योजनाओं को प्रोत्साहित कर रहे हैं, बल्कि वे नेतृत्व की भूमिका भी निभा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने हेमंत सोरेन की प्रेरणा को याद करते हुए उनकी सशक्त नेतृत्व की सराहना की, जिन्होंने गांव और शहर के बीच की दूरी को कम करने का सपना देखा था। यह निश्चित है कि सरकार उनकी आगे की कोशिशों को आगे बढ़ाएगी।

चंपाई सोरेन ने इस संकल्प की गारंटी दी कि हर व्यक्ति को अपने मकान के लिए पैदल चलने की आवश्यकता नहीं होगी। इसके लिए, ‘अबुआ आवास योजना’ को शुरू किया गया है। इस योजना के तहत, लाखों परिवारों को स्थायी और अटूट आवास प्रदान किया जाएगा।

उन्होंने उज्ज्वलता की ओर यह भी बताया कि ‘मुख्यमंत्री ग्राम गाड़ी योजना’ के तहत लोगों को बस से शहर तक मुफ्त यात्रा की सुविधा प्रदान की जाएगी। यह सुविधा विशेष रूप से बुजुर्गों और बच्चों के लिए महत्वपूर्ण होगी, जो स्कूल और कॉलेज के लिए बस सेवा का उपयोग करते हैं।

Please follow and like us:
 WhatsApp GroupJoin Now